BELATED ITR इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने का द्वितीय मौका

BELATED ITR आज की आज मानव का जीवन इतना व्यस्त हो गया है कि वहां इस व्यस्तता में अपने आप को ही भूल गया है। प्रत्येक व्यक्ति द्वारा यह प्रयास किया जाता है, कि प्रत्येक कार्य समय पर संपन्न किया जा सके परंतु कभी-कभी ऐसा होता है कि व्यक्ति अपने दैनिक जीवन के कार्यों में कुछ इस प्रकार से व्यस्त हो जाता है कि वहां कुछ महत्वपूर्ण कार्य को भी करना भूल जाते हैं।

आज के व्यस्तता पूर्ण जीवन में व्यक्ति हमें धारियों का निर्माण करते हुए सारी जिम्मेदारियों का निर्वाह करते हुए इतना व्यस्त हो जाता है कि वह अपने कुछ महत्वपूर्ण काम जैसे इनकम टैक्स रिटर्न को भी भरना भूल जाता है ऐसी स्थिति में उस व्यक्ति के सामने BELATED ITR एकमात्र विकल्प होता है।

ऐसा किसी व्यक्ति विशेष के साथ नहीं होता यह तो आम आदमी की कहानी है क्योंकि आज के महंगाई वाले समय में प्रत्येक व्यक्ति पर जिम्मेदारियों का बोझ काफी बढ़ गया है और वह अपनी जिम्मेदारियों के निर्वाह में अपने आप को पूरे प्रयास के साथ लगा देता है उसका यही प्रयास उसके सुखमय जीवन की ओर उसे अग्रेषित करता है प्रत्येक व्यक्ति का यही तो धेय होता है कि वहां सम्पूर्ण जीवन सुख पूर्वक जिये।

जब भी कोई करदाता किसी वित्तीय वर्ष के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं कर पाता ऐसे में वह जब अपना टैक्स जब भरता है तब उसके सामने BELATED ITR का विकल्प होता है।

BELATED ITR क्या होता है। इसे कौन कब और कैसे भर सकते हैं?

जब भी कोई करदाता किसी वित्तीय वर्ष के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं कर पाता ऐसे में वह जब अपना टैक्स जब भरता है तब उसके सामने BELATED ITR का विकल्प होता है।

आज के व्यस्तता पूर्ण जीवन में व्यक्ति हमें धारियों का निर्माण करते हुए सारी जिम्मेदारियों का निर्वाह करते हुए इतना व्यस्त हो जाता है कि वह अपने कुछ महत्वपूर्ण काम जैसे इनकम टैक्स रिटर्न को भी भरना भूल जाता है ऐसी स्थिति में उस व्यक्ति के सामने BELATED ITR एकमात्र विकल्प होता है।

BELATED ITR किसे कहते हैं?

यदि हम किसी वित्तीय वर्ष में इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं कर पाते तो ऐसी स्थिति में जब भी इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते हैं। तब BELATED ITR एकमात्र विकल्प होता है। अर्थात जब कोई किससे वित्त वर्ष के उपरांत इनकम टैक्स रिटर्न भरना चाहता है। तो उसे जो इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करना होता है BELATED ITR उसे कहा जाता हैं।

BELATED ITR भरने के नुकसान


अगर कोई BELATED ITR इनकम टैक्स रिटर्न भरता है तो उसे बड़ा नुकसान उठाना पड़ता है उसका सबसे बड़ा नुकसान तो यह होता है कि उससे लेट फीस चुकानी होगी अगर उसकी टैक्सेबल इनकम 5 लाख से कम है तो ₹1000 और यदि टैक्सेबल इनकम 5 लाख से अधिक है तो ₹5000 की पेनाल्टी और यदि टैक्सेबल इनकम 25 लाख से अधिक है तो ₹25000 की पेनाल्टी राशि देना होता है।

BELATED ITR इसे कब भरा जाता है

जब भी कोई करदाता किसी वित्तीय वर्ष के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं कर पाता। ऐसे में वह जब निर्धारित समय के उपरांत टैक्स जब भरता है तब उसके सामने BELATED ITR का एकमात्र विकल्प होता है।

BELATED ITR कैसे भरा जाता हैं

जब भी कोई करदाता किसी वित्तीय वर्ष के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं कर पाता। ऐसे में वह जब निर्धारित समय के उपरांत टैक्स जब भरता है तब उसके सामने BELATED ITR का एकमात्र विकल्प होता है।
अब BELATED ITR के महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान में रखकर इसे भरा जाएगा

BELATED ITR को सामान्य इनकम टैक्स रिटर्न के अनुसार ही भरा जाता है हालांकि सामान्य इनकम टैक्स रिटर्न को इनकम टैक्स अधिनियम 139(1) के तहत भरा जाता है। और इसे BELATED ITR इनकम टैक्स रिटर्न अधिनियम 139(4) के तहत भरा जाता है।बाकी संपूर्ण प्रक्रिया सामान्य इनकम टैक्स रिटर्न भरने जैसी ही है।
आइए जानते हैं इसके महत्वपूर्ण बिंदुओं को

  • सर्वप्रथम इनकम टैक्स रिटर्न के ऑफिशियल साइट पर पहुंच जाते हैं
  • इसके उपरांत इनकम टैक्स ई फाइलिंग पोर्टल पर जाते हैं। यहां पर हमें इनकम टैक्स की इस लिंक पर जाना होगा
  • जैसे ही हम लिंक पर क्लिक करते हैं। तो हमारे सामने यूजर आईडी और पासवर्ड के विकल्प आते हैं।
  • यूजर आईडी में पेन नंबर डालेंगे और दूसरे में अपना पासवर्ड डालेंगे।
  • अब पोर्टल खुल जाएगा और आपको यहां ऊपर ही ई फाइल मेनू दिखाई देगा जहां इनकम टैक्स रिटर्न पर जाकर फाइल इनकम टैक्स रिटर्न का चयन करना होगा।
  • इसके उपरांत आगे के पेज पर आपको रेलीवेंट एसेसमेंट वर्ष चुनना होगा
  • इसके उपरांत आपको फाइलिंग मोड में से ऑनलाइन या ऑफलाइन में से ऑनलाइन का चयन करना होगा, और इसके बाद कंटिन्यू पर क्लिक करें।
  • अब अगले चरण में आपको स्टेटस एप्लीकेबल में इंडिविजुअल का चयन करना होगा। क्योंकि आप ITR-1 फाइल कर रहे हैं।
  • अगले चरण पर आपको आइटीआर फॉर्म का चयन करना है । यहां पर आप देख सकते हैं कि किस प्रकार के टैक्स पेयर को किस प्रकार का ITR फॉर्म का चयन करना है ।आप ITR-1 के साथ प्रोसीड करेंगे।
  • यहां आपको किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी उन्हें आप देख सकते हैं इसके बाद प्रोसीड करने के लिए लेट्स गेट स्टार्ट डेट पर क्लिक करें।
  • अब आपका अगला चरण होगा जहां आपको बताना होगा कि आप इनकम टैक्स क्यों भर रहे हैं।
  • अब आपको अपने पहले से भरी हुई रिटर्न की डीटेल्स को वेरीफाइड करना होगा। इसमें जो आपकी पर्सनल जानकारी है। उससे अच्छे से चेक कर ले अगर कुछ परिवर्तन करना है, तो आप यहां से एडिट कर सकते हैं।
  • इस प्रकार आपको अपनी समस्त आए टैक्स डिडक्शन टैक्स पैड और टैक्स लायबिलिटीज की जानकारी वैलिडेट करनी होगी। जब आप सारी जानकारी और डिटेल्स को वैलिडेट कर देते हैं।तो आप प्रोसीड कर सकते हैं। अगर कोई कर शुल्क अभी भरना है। आप अभी भी भर सकते हैं या बाद में ई पे सर्विस के द्वारा भी भर सकते हैं।
  • इस के उपरांत अब आप अपने इनकम टैक्स रिटर्न का प्रारूप देख सकते हैं यहां से प्रोसीड टू वैलिडेशन विकल्प का चयन करें।
  • इस के उपरांत अब आपको इनकम टैक्स रिटर्न वेरीफाई करना होगा। जिसके लिए आपको यहां विकल्प आएंगे जिनमें से आपके लिए जो विकल्प सरल लगे आप उसका चयन कर सकते हैं ई वेरीफिकेशन के बाद आपका इनकम टैक्स रिटर्न सबमिट हो जाएगा आप यहां से अपनी इनकम टैक्स रिटर्न सीट डाउनलोड कर सकते हैं इस प्रकार से आप अपना इनकम टैक्स रिटर्न भर सकते हैं।

उपरोक्त बताए गए अनुरूप BELATED ITR को भर सकते हैं परंतु BELATED ITR को भरते समय प्रत्येक विकल्पों को ध्यान पूर्वक देखना पढ़ना और समझना होगा और इसके बाद हमें आगे बढ़ना होगा। और हम सभी विकल्पों को ध्यान पूर्वक करते हुए आगे बढ़ते हैं, और तो सफलतापूर्वक BELATED ITR को भर दिया जाता हैं।

इनकम टैक्स विभाग की आधिकारिक वेबसाइट

आपके लिए विशेष यह भी पढ़ें

इनकम टैक्स भरते हुए यदि गलती हो जाए तो घबराएं नहीं इस प्रकार से गलती का सुधार करें।इनकम टैक्स रिटर्न रिवाइज इस प्रकार करें

Leave a Comment