इनकम टैक्स भरते हुए यदि गलती हो जाए तो घबराएं नहीं इस प्रकार से गलती का सुधार करें।इनकम टैक्स रिटर्न रिवाइज इस प्रकार करें

वर्तमान समय में बहुत से लोग इनकम टैक्स के सीमा में आते हैं। उन्हें महत्वपूर्ण रूप से इनकम टैक्स भरना होता है। इनकम टैक्स भरने के लिए हमें अपने पैन कार्ड का उपयोग करना होता है। अब हम पैन कार्ड के साथ आधार कार्ड का भी उपयोग करके इनकम टैक्स भर सकते हैं क्योंकि हमारा पैन कार्ड आधार कार्ड से लिंक होता है।इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय इन महत्वपूर्ण बिंदुओं का रखें ख्याल

Table of Contents

इनकम टैक्स भरते समय हमें इन महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान में रखना आवश्यकता है

इनकम टैक्स अथवा इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय हम लोग इनकम टैक्स रिटर्न तो फाइल कर देते हैं। परंतु जल्दी-जल्दी में इनकम टैक्स जो फाइल किया होता है। उसका वेरिफिकेशन करना भूल जाते हैं। जिसके बिना इनकम टैक्स का वेरिफिकेशन नहीं हो पाता। और उससे पूर्ण नहीं माना जाता । अतः इनकम टैक्स भरने के उपरांत उसका वेरिफिकेशन करना अत्यंत आवश्यक होता है।

इन महत्वपूर्ण बिंदुओं के आधार पर इनकम टैक्स रिटर्न किया जाए जिससे कोई चूक ना हो

  • इनकम टैक्स रिटर्न जमा करने के लिए सर्वप्रथम इनकम टैक्स की ऑफिशियल साइट पर जाते हैं।
  • इसके उपरांत यूजर आईडी डालकर कंटिन्यू बटन पर का चयन करेंगे करते हैं। और पासवर्ड डालते हैं ,फिर लॉगइन करते हैं।
  • यदि हम पासवर्ड भूल जाते हैं, तो हमें लॉगइन आईडी डालकर फॉरगेट पासवर्ड करना होगा। इसके बाद हमें नया पासवर्ड बनाना होगा।
  • जब हम लॉगइन आईडी और पासवर्ड डालते हैं। तब एक नया पेज खुलेगा। यहां पर फाइल पर क्लिक करें, फिर फाइल इनकम टैक्स रिटर्न विकल्प का चयन करें। इसके उपरांत एसेसमेंट वर्ष 2023 24 का चयन करें और फिर आगे बढ़े।
  • अब हमें ऑनलाइन और ऑफलाइन का विकल्प दिखाई देगा जिसमें से हमें ऑनलाइन विकल्प का चयन करना होगा।
  • अब ITR-1 या ITR- 4 में से अपनी कैटेगरी के हिसाब से विकल्प का चयन करेंगे और आगे बढ़े।
  • अब अगर आप नौकरी पेशा है सेट्रॉयड कैटेगरी में आते हैं तो फिर आपको ITR-1 चयन करें। डिविडेंड इनकम वाले ITR-2 का चयन करें।
  • अब आपके कंप्यूटर पर फार्म डाउनलोड हो जाएगा फिर इसमें समस्त जानकारियों को भरें और फिलिंग टाइप में 139 (1) ओरिजिनल रिटर्न का चयन करें।
  • इस प्रकार से कुछ ही मिनटों में आपका आयकर रिटर्न जमा हो जाएगा और अब आप अपने आयकर रिटर्न को वेरीफाई करने के लिए ई वेरीफिकेशन कर सकते हैं।
  • अब आपको इनकम टैक्स रिटर्न वेरीफाई करना होगा। जिसके लिए आपको यहां विकल्प आएंगे जिनमें से आपके लिए जो विकल्प सरल लगे आप उसका चयन कर सकते हैं, ई वेरीफिकेशन के बाद आपका इनकम टैक्स रिटर्न सबमिट हो जाएगा आप यहां से अपनी इनकम टैक्स रिटर्न सीट डाउनलोड कर सकते हैं।

आइए देखते हैं कि कैसे आयकर रिटर्न भरते वक्त हुई गलतियों को कैसे सुधार कर सकते हैं।

आयकर रिटर्न फाइल करने की समय कई बार जल्दबाजी में कुछ गलतियां हो जाती है। अब घबराने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि जल्दबाजी में हुई इन गलतियों का सुधार किया जा सकता है आइए देखते हैं कि कैसे आयकर रिटर्न भरते वक्त हुई गलतियों को सुधार कर सकते हैं।

अगर आपने भी जल्दबाजी में इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय कोई गलती कर दी है तो अब बिल्कुल ना घबराए क्योंकि इस गलती को आसानी से सुधारा जा सकता है आइए जानते हैं कैसे हैं हम इनकम टैक्स रिटर्न रिवाइज कर सकते हैं।

सर्वप्रथम इनकम टैक्स रिटर्न जमा करने में हुई गलती को सुधार करने के लिए इनकम टैक्स रिटर्न रिवाइज आईटीआर फाइल पर जाना होगा यह आईटीआर फाइल को इनकम टैक्स अधिनियम के सेक्शन 139 (5) के तहत जमा करना होगा।

  • इनकम टैक्स रिटर्न जमा करने के लिए सर्वप्रथम इनकम टैक्स की ऑफिशियल साइट पर जाते हैं।
  • इसके उपरांत यूजर आईडी डालकर कंटिन्यू बटन पर का चयन करेंगे करते हैं। और पासवर्ड डालते हैं ,फिर लॉगइन करते हैं।
  • यदि हम पासवर्ड भूल जाते हैं, तो हमें लॉगइन आईडी डालकर फॉरगेट पासवर्ड करना होगा। इसके बाद हमें नया पासवर्ड बनाना होगा।
  • जब हम लॉगइन आईडी और पासवर्ड डालते हैं। तब एक नया पेज खुलेगा। यहां पर फाइल पर क्लिक करें, फिर फाइल इनकम टैक्स रिटर्न विकल्प का चयन करें। इसके उपरांत एसेसमेंट वर्ष 2023 24 का चयन करें और फिर आगे बढ़े।
  • अब हमें ऑनलाइन और ऑफलाइन का विकल्प दिखाई देगा जिसमें से हमें ऑनलाइन विकल्प का चयन करना होगा।
  • अब ITR-1 या ITR- 4 में से अपनी कैटेगरी के हिसाब से विकल्प का चयन करेंगे और आगे बढ़े।
  • अब अगर आप नौकरी पेशा है सेट्रॉयड कैटेगरी में आते हैं तो फिर आपको ITR-1 चयन करें। डिविडेंड इनकम वाले ITR-2 का चयन करें।
  • अब आपके कंप्यूटर पर फार्म डाउनलोड हो जाएगा फिर इसमें समस्त जानकारियों को भरें और फिलिंग टाइप में 139 (5) ओरिजिनल रिटर्न का चयन करें।
  • इस प्रकार से कुछ ही मिनटों में आपका आयकर रिटर्न जमा हो जाएगा और अब आप अपने आयकर रिटर्न को वेरीफाई करने के लिए ई वेरीफिकेशन कर सकते हैं।
  • अब आपको इनकम टैक्स रिटर्न वेरीफाई करना होगा। जिसके लिए आपको यहां विकल्प आएंगे जिनमें से आपके लिए जो विकल्प सरल लगे आप उसका चयन कर सकते हैं, ई वेरीफिकेशन के बाद आपका इनकम टैक्स रिटर्न सबमिट हो जाएगा आप यहां से अपनी इनकम टैक्स रिटर्न सीट डाउनलोड कर सकते हैं।

इनकम टैक्स रिटर्न में कितनी बार सुधार किया जा सकता है?

इनकम टैक्स रिटर्न के रिवाइज को आप कितने भी बाहर सुधार कर सकते हैं । परंतु यहां पर ध्यान रखना होगा कि बड़े-बड़े आयकर सलाहकार यह कहते हैं कि इनकम टैक्स रिटर्न रिवाइज को ज्यादा अधिक बार सुधार नहीं किया जाना चाहिए। कभी-कभी ज्यादा बार सुधार किए जाने पर आयकर विभाग द्वारा स्कूटनी भी की जा सकती है।

इनकम टैक्स रिटर्न रिवाइज करने पर कितना फीस लगता है?

अब एक बड़ा प्रश्न उठता है कि क्या इनकम टैक्स रिटर्न रिवाइज करने पर कोई शुल्क या कोई अतिरिक्त कर लगता है।
क्या परंतु ऐसा कुछ भी नहीं है इनकम टैक्स रिटर्न रिवाइज करने पर किसी भी प्रकार का कोई शुल्क या कर नहीं लगता।
परंतु यदि करदाता की इनकम में वृद्धि की जाती है। तो उस अतिरिक्त आय पर जो टैक्स जो लगता है, वह देना पड़ता है।

इनकम टैक्स रिटर्न वेरीफाई करने से पहले क्या रिवाइज आइटीआर कर सकते हैं?

यदि आपको ऐसा लगता है की आप वेरीफाई करने के पहले रिवाइज कर सकते हैं या नया इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर सकते हैं तो यह बिल्कुल गलत है।
क्योंकि ऐसा नहीं किया जा सकता यदि आपको इनकम टैक्स रिटर्न फाइल का रिवाइज करना है तो सर्वप्रथम जो इनकम टैक्स रिटर्न होगा है उसे वेरीफाई करना होगा इसके बाद आपको रिवाइज फॉर्म भरना होगा तभी यह रिवाइज हो पाएगा और आपकी गलती सुधर पाएगी।

यदि इनकम टैक्स रिटर्न भरते हुए फॉर्म आपके द्वारा सबमिट कर दिया जाता है और उसका वेरिफिकेशन करना बाकी होता है। इसके पहले ही आपको यह ज्ञात हो जाता है कि इनकम टैक्स फॉर्म में आपने गलती की है तो फिर क्या करें?


क्योंकि ऐसा नहीं किया जा सकता यदि आपको इनकम टैक्स रिटर्न फाइल का रिवाइज करना है तो सर्वप्रथम जो इनकम टैक्स रिटर्न होगा है उसे वेरीफाई करना होगा इसके बाद आपको रिवाइज फॉर्म भरना होगा तभी यह रिवाइज हो पाएगा और आपकी गलती सुधर पाएगी।

इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए यदि आप हमारे द्वारा बताए गए महत्वपूर्ण बिंदुओं का पालन करते हैं तो आपसे कभी गलती नहीं होगी और यदि पूर्व में आपने कोई गलती की है तो आप उसे इनकम टैक्स रिवाइज करके सुधार सकते हैं।

इनकम टैक्स विभाग की आधिकारिक वेबसाइट

आपके लिए विशेष यह भी पढ़ें

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा 6 करोड़ कर्मचारियोंक् को उपहार

हमारा यह प्रयास आपके लिए मददगार सिद्ध हो

Leave a Comment