कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा 6 करोड़ कर्मचारियोंक् को उपहार

केंद्र सरकार द्वारा अपने 6 करोड़ कर्मचारियों को उपहार देने की घोषणा की है। आइए हम जानते हैं कि केंद्र सरकार द्वारा कौन सा अब तक का सबसे बड़ा उपहार अपने कर्मचारियों को दिया जा रहा है।
केंद्र सरकार द्वारा अपने 6 करोड़ कर्मचारियों के तोहफे के रुप में ईपीएफओ खाते पर मिलने वाली ब्याज दरों में बढ़ोतरी का ऐलान कर दिया है जिस से संबंधित सर्कुलर 24 जुलाई को जारी कर दिया है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के बोर्ड ने अपने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए इपीएफ अकाउंट पर 8.15 प्रतिशत की दर से नहीं ब्याज दर तय की गई जो समस्त कर्मचारियों के लिए बहुत ही बड़ा उपहार है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की शुरुआत 15 नवंबर, 1951 को कर्मचारी भविष्य निधि अध्यादेश के आने के पश्चात हुई थी। इसके बाद कर्मचारी भविष्य निधि अधिनियम, 1952 पारित किया गया जो अब कर्मचारी भविष्य निधि एवं विविध प्रावधान अधिनियम, 1952 के नाम से जाना जाता है।
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन, भारत के राज्यों द्वारा प्रोत्साहित अनिवार्य अंशदायी पेंशन और बीमा योजना प्रदान करने वाला शासकीय संगठन है। यह मुख्य रूप से सदस्यों और वित्तीय लेनदेन की मात्रा के मामले में यह विश्व का सबसे बड़ा सगठन है। इसका मुख्य कार्यालय दिल्ली में है।
इसका संचालन भारतीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा किया जाता है। कर्मचारियों के भविष्य के लिए अंशदाई पेंशन हेतु नीति निर्धारण एवं प्रतिपादन करता।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन का मुख्य उद्देश्य

  • एक नवाचार द्वारा संचालित सामाजिक सुरक्षा संगठन, जिसका उद्देश्य सार्वभौमिक कवरेज का विस्तार करना और अत्याधुनिक तकनीक के माध्यम से अपने हितधारकों को निर्बाध सेवा वितरण सुनिश्चित करना है।
  • व्यापक सामाजिक सुरक्षा की विकसित हो रही जरूरतों को पूरा पारदर्शी, संपर्क रहित, फेस लेस और पेपर लेस तरीके से करना।
  • आपदा सुरक्षित कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के लिए बहु-स्थानीय और ऑटो दावा निपटान प्रक्रिया के साथ निर्बाध सेवाओं को सुनिश्चित करना।
  • भारत सरकार द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि संगठन मुख्य रूप से कर्मचारी एवं पेंशनभोगियों के लिए जीवन की सुगमता और सुरक्षा सुनिश्चित करना।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा कर्मचारियों के भविष्य के लिए सहयोग

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा प्रबंधित तीन सामाजिक सुरक्षा योजनायें, बड़े उद्योग, सुक्ष्म लघु और माध्यम उद्यम तथा अन्य स्थापना में कार्यरत कर्मचारियों के लिए हैं।संगठन द्वारा बेहतर सेवा के लिए निरंतर प्रयासरत रहता है।कर्मचारियों तथा पेंशनर के लिए सभी सेवाओं की जानकारी तथा सभी की सहायता के लिए तत्पर रहता है। और इन सेवाओं को प्राप्त करने के लिए प्रक्रिया को सरल एवं पारदर्शी रखता है। महिला कर्मचारिओं को पुरुष कर्मचारिओं के बराबर सुविधाएँ है। तथा देश के युवा जो हमारे संभावित कर्मचारी है उनकी सहायता के लिए हम सदा तत्पर रहता हैं।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा भेजा गया प्रस्ताव

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की ओर से वर्ष 2023 मार्च में ब्याज दरों को 8.10 से बढ़ाकर 8.15 भेज दी करने का प्रस्ताव दिया था जिसे वित्त मंत्रालय द्वारा स्वीकार कर लिया गया और वर्तमान में कर्मचारी भविष्य निधि क्या ब्याज बढ़ाकर 8.15 कर दिया गया है ।जो कर्मचारियों के लिए अत्यंत हर्ष की बात है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा ब्याज दर बढ़ाने का फैसला क्यों लिया गया

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की अगुवाई में वित्तीय वर्ष 2021-22 मैं कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के लिए ब्याज दर 8.10 फ़ीसदी निर्धारित की थी। जो लगभग 40 वर्षों की सबसे कम ब्याज दर थी वर्ष 1977 78 में कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की ब्याज दर 8 फ़ीसदी की ब्याज दर तय की गई थी। लेकिन इसके बाद से लगातार यह वित्तीय वर्ष 2015-16 में 8.8 तथा 2016-17 में 8.65 फ़ीसदी 2017-18 में 8.65 फ़ीसदी तथा 2018-19 में 8.65 फ़ीसदी निर्धारित किया गया था। इस आधार पर लगभग 40 वर्षों में सबसे कम 2022-23 वित्त वर्ष में ब्याज दर थी अतः समिति द्वारा यह निर्णय लिया गया कि यह ब्याज दर बढ़ाई जाए और इसके लिए प्रस्ताव वित्त मंत्रालय को भेजा और वित्त मंत्रालय ने प्रस्ताव के समर्थन में ब्याज दर में वृद्धि की।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा कर्मचारियों की वेतन से कि जाती है कटौती

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा कर्मचारियों की पगार की 12 फ़ीसदी कटौती उनके इपीएफ अकाउंट के लिए होती है कर्मचारी की तरफ से पगार की कटौती का 8.33 सिद्धि ईपीएस में एवं 3.67% इपीएफ मैं जाता है। जो नियत ब्याज के रूप में कर्मचारी को सेवानिवृत्त के उपरांत एकमुश्त राशि के रूप में एवं पेंशन के रूप में दिया जाता है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के पोर्टल पर बैलेंस देखें

  • कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के पोर्टल पर बैलेंस देखने के लिए
  • सर्वप्रथम कर्मचारी को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके उपरांत ई पासबुक के ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा।
  • नए पेज पर यूएएन पासवर्ड और कैप्चर को डालकर लॉगइन क्लिक करना होगा।
  • अब लांग इन करने के बाद पासबुक को देखने के लिए सदस्य आईडी चुना होगा।
  • अब आपको पीडीएफ फॉर्मेट में पासबुक मिल जाएगी जिस से डाउनलोड कर सकते हैं।
  • आप आपके सामने आपके बैलेंस की संपूर्ण जानकारी आ चुकी है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन अधिकारिक वेबसाइट

देशवासियों के सुरक्षा से जुड़ी एक महत्वपूर्ण खुशखबरी

पीएम किसान सम्मान निधि 28 जुलाई किसानों को मिलेंगे14वीं किश्त

खुशखबरी SEBI शेयर बाजार मैं निवेशकों के लिए कर सकता है नियमों में बदलाव

क्या आप जानते है

कर्मचारी भविष्य निधि संगठनटोल फ्री नंबर क्या हैं?

कर्मचारी भविष्य निधि संगठनटोल फ्री नंबर 14470

Leave a Comment